हरियाणा सरकार की अमृत योजना मे मिली कमियों का कारण अधिकारियों की लापरवाही, सबके खिलाफ लिया एक्शन

हरियाणा में अमृत योजना के तहत कई अलग-अलग प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है। इन प्रोजेक्ट का उद्देश्य प्रदेश में रहने वाले नागरिकों को बेहतर मूलभूत सुविधाएं देने का है।

इस प्रोजेक्ट के तहत पेय जल, जल निकासी और सीवरेज प्रबंधन का काम भी चल रहा है।लेकिन कई अधिकारियों की लापरवाही के कारण अमृत योजना में कमियां पाई गई हैं।

इसलिए अब कई निकायों के अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है और दो अधिकारियों की पेंशन को रोकने के निर्देश भी जारी किए जा चुके हैं। आइए जानते हैं इस खबर से जुड़ी खास बातें

हरियाणा की अमृत योजना में मिली कमियां

हरियाणा की अमृत योजना के तहत कई अलग-अलग प्रोजेक्ट पर काम किया जा रहा है। जिसमें जल निकासी, सीवरेज प्रबंधन और पेयजल की व्यवस्था भी शामिल है।

लेकिन इन प्रोजेक्ट में कुछ कमी पाई गई जिसके कारण अब कई अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया। हिसार नगर निगम के कार्यकारी अभियंता संदीप और हिसार के एमई कर्मपाल को सस्पेंड किया गया है।

सिरसा नगर निगम के जेई अनिल मोहित और हिसार के जूनियर इंजीनियर अंकुर को भी सस्पेंड किया गया है। फतेहाबाद के कार्यकारी अभियंता अमित कौशिक को भी

सस्पेंड किया जा चुका है। इसके अलावा पंचकूला नगर निकाय के रिटायर्ड चीफ इंजीनियर डीआर भास्कर और रिटायर्ड और रिटायर्ड प्रवीण वर्मा की पेंशन को रोकने के भी निर्देश जारी किए गए हैं।

प्रदेश के अलग-अलग जिलों में चल रहा है काम

बता दें कि प्रदेश के अलग-अलग जिलों में कई मूलभूत सुविधाएं देने पर काम किया जा रहा है। जिसमें हिसार में 130 किलोमीटर लंबी पेयजल की लाइन बिछाई जानी है। प्रदेश के 20 से ज्यादा शहरों में इस प्रोजेक्ट के तहत काम किया जा रहा है।