सोनीपत से 27 माह पहले रद्द की ट्रेनों का कब से शुरू होगा आवागमन , जाने क्या है वजह

दिल्ली-अंबाला रूट पर कोरेेना काल में बंद की गईं अप और डाउन लाइन की 13 पैसेंजर ट्रेनों (सवारी गाड़ियों) को 27 माह बाद भी शुरू नहीं किया गया है।

जिसकी वजह स यात्रियों को मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। यात्री संख्या बढ़ने व ट्रेनों की संख्या कम होने के कारण सवारियों को एक्सप्रेस व

अन्य सवारी गाड़ियों में लटककर सफर करना पड़ रहा है। दैनिक यात्री लंबे समय से बंद पड़ी सवारी गाड़ियों का परिचालन शुरू करने की मांग कर रहे हैं,

लेकिन अधिकारी इस दिशा में कोई कदम नहीं उठा रहे। इससे दैनिक यात्रियों में रोष बढ़ता जा रहा है।सोनीपत रेलवे स्टेशन पर अप-डाउन लाइन में 23 ट्रेनों का ठहराव होता है।

स्टेशन से रोजाना करीब 40 हजार यात्री आवागमन करते हैं। कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन लगने पर रेलवे ने 24 मार्च 2020 को सभी ट्रेनों का परिचालन रोक दिया था।

स्थिति सामान्य होने के बाद अधिकतर मेल, एक्सप्रेस सहित कुछ पैसेंजर ट्रेनों का भी परिचालन शुरू कर दिया गया, लेकिन विभाग ने अप-डाउन लाइन की करीब

13 पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन 27 माह बाद भी नहीं किया। इनमें अप लाइन की 7 व डाउन लाइन में 6 ट्रेनें शामिल हैं।

दैनिक यात्री इन ट्रेनों के पटरी पर दौड़ने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि रोजाना ट्रेनों में होने वाली धक्का-मुक्की से राहत मिल सके।

ट्रेनों में जान जोखिम में डाल यात्रा कर रहे यात्री
रेलवे स्टेशन पर 13 पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन बंद होने से यात्री ट्रेनों में लटककर सफर करने को मजबूर हैं। यात्री ट्रेनों में जान जोखिम में डाल यात्रा कर रहे हैं।

दैनिक यात्री लंबे समय से बंद पड़ी पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन शुरू करने की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर सांसद रमेश कौशिक से मिलकर उन्हें भी

अपना मांग पत्र सौंपा था। सांसद ने आश्वासन दिया था कि इस विषय में सकारात्मक कदम उठाए जाएंगे। लेकिन ट्रेन शुरू नहीं हो सकी हैं।

ट्रेनों में सीट पाने के लिए मोल ले रहे खतरा
स्टेशन पर ट्रेनों के प्लेटफॉर्म पर आने से पहले ही यात्रियों की भीड़ प्लेटफार्म पर जमा हो जाती है। कुछ यात्री ट्रेनों में बैठने के लिए सीट लेने की होड़ में खतरा मोल रहे हैं।

वे ट्रेनों के प्लेटफॉर्म पर पहुंचने से पहले ही दोनों लाइनों के बीच में खड़े हो जाते हैं। ताकि विपरित दिशा से पहले चढ़कर सीट प्राप्त कर सकें।

ट्रेनों में ज्यादा भीड़ होने से यात्रियों को पैर रखने की जगह भी नहीं मिल पाती। यात्रियों का कहना है कि उन्हें रोजाना इसी तरह सफर करने पर मजबूर होना पड़ रहा है।

अप लाइन की ट्रेनें
ट्रेन संख्या पैसेंजर ट्रेन
64463 नई दिल्ली से कुरुक्षेत्र
64003 नई दिल्ली से सोनीपत
64531 दिल्ली जंक्शन से पानीपत
64533 दिल्ली जंक्शन से पानीपत
54303 दिल्ली जंक्शन से कालका
64469 नई दिल्ली से पानीपत (महिला स्पेशल)
64001 दिल्ली जंक्शन से पानीपत
डाउन लाइन की ट्रेनें
ट्रेन संख्या पैसेंजर ट्रेन
64004 सोनीपत से दिल्ली जंक्शन
64002 पानीपत से दिल्ली जंक्शन
64470 पानीपत से नई दिल्ली (महिला स्पेशल)
64536 पानीपत से दिल्ली जंक्शन
64534 पानीपत से गाजियाबाद
64466 पानीपत से नई दिल्ली


दैनिक यात्री बोले
मैं रोजाना सोनीपत से दिल्ली तक ट्रेन में सफर करती हूं। लॉकडाउन से पहले ट्रेन में आराम से बैठकर जाती थी। महिला स्पेशल सहित अन्य पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन बंद होने से ट्रेनों में ज्यादा भीड़ रहती है।

कई बार ट्रेन में डिब्बे के गेट के पास बैठकर सफर करना पड़ रहा है। विभाग को यात्रियों की समस्या को देखते हुए जल्द सभी ट्रेनों का परिचालन शुरू करना चाहिए।

महिला स्पेशल ट्रेन को जल्द शुरू करवाया जाए, ताकि यात्रियों को परेशानी न उठानी पड़े। -सुषमा शर्मा, दैनिक यात्रीसोनीपत
महिला स्पेशल ट्रेन सहित अन्य पैसेंजर ट्रेनोें का परिचालन बंद

होने के बाद से खासी परेशानियां झेलनी पड़ रही हैं। ट्रेन में कई बार खड़े होने के लिए भी जगह नहीं मिलती। हालात यह हैं कि ट्रेन में खड़े होने की भी जगह लेने के लिए

विपरीत दिशा से चढ़ने को मजबूर होना पड़ता है। विभाग जल्द सभी ट्रेनों का परिचालन शुरू करें। महिला स्पेशल ट्रेन भी को जल्द चलाया जाए। -निर्मला, दैनिक यात्री, रामनगर


मैं रोजाना सोनीपत से दिल्ली आवागमन करती हूं। लॉकडाउन से पहले महिला स्पेशल ट्रेन में आराम से जाती थी। स्थिति सामान्य होने के बाद भी महिला स्पेशल सहित अन्य ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं किया जा रहा।

जिससे दैनिक यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ रही है। भारी भीड़ के कारण लोगों के बीच में खड़े होकर सफर करना पड़ रहा है। ट्रेनों में पैर रखने के लिए भी जगह नहीं मिल रही।

विभाग जल्द सभी ट्रेनों का परिचालन शुरू करे, ताकि यात्रियों को परेशानी का सामना न करना पड़े। -सीमा, दैनिक यात्री, नरेंद्र नगर
कोरोना काल के बाद से कुछ ट्रेनों का परिचालन बंद है। इन ट्रेनों को चलाने के लिए जब भी मुख्यालय की ओर से आदेश आएंगे धीरे-धीरे चला दिया जाएगा।

यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए रेलवे की तरफ से हरसंभव प्रयास किए जाते हैं। -अजय माइकल, जनसंपर्क अधिकारी, रेलवे दिल्ली मंडल