पानीपत मे लगने वाले 60 हजार प्रति टन के रबड़ प्लांट से मिलेगा हज़ारों लोगों को रोजगार

पानीपत : हरियाणा में विकास कार्य तेजी से चल रहे हैं। प्रदेश में नए नए प्लांट भी विकसित किए जा रहे हैं ताकि प्रदेश में औद्योगिकीकरण और साथ ही रोजगार को बढ़ावा मिल सके।

वहीं अब हरियाणा से ही खबर सामने आ रही है कि हरियाणा के पानीपत में अब रबड़ का प्लांट लगाया जाने वाला है। इसके लिए पानीपत के डीसी सुशील द्वारा जनसुनवाई भी की गई

जिसमें कोई आपत्ति दर्ज नहीं की गई है।अब जल्द ही इस प्लांट का काम भी शुरू कर दिया जाएगा। कहा जा रहा है कि इस प्लांट के बनने के बाद अब रबड़ के लिए दूसरे देशों पर

निर्भर नहीं रहना होगा। वहीं इस प्लांट के निर्माण से हजारों युवाओं को रोजगार भी मिलने वाला है।

खास बात ये भी है कि इस प्लांट से प्रदूषण भी नहीं फैलेगा और आमजन को भी किसी तरह की समस्या नहीं आने वाली है।

खत्म होगी दूसरे देशों पर निर्भरता

हरियाणा के पानीपत में ही रबड़ का प्लांट लगने की कवायद तेज हो गई है। ज़िले में जल्द ही रबड़ के प्लांट का काम शुरू किया जाने वाला है।

जिलाधीश भी इसके लिए जनसुनवाई कर चुके हैं लेकिन इसमें कोई आपत्ति दर्ज नहीं की गई है जिसके बाद इस रबड़ के प्लांट का रास्ता भी साफ माना जा रहा है।

देश में रबड़ की ज्यादा मांग है जिसके लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहना पड़ता था लेकिन अब ये प्लांट दूसरे देशों पर निर्भरता को भी कम कर देगा।

हालांकि अभी देश में रबड़ की मांग काफी ज्यादा है और उत्पादन काफी कम है इसलिए ही दूसरे देशों से रबड़ को मंगाया जाता है।

लेकिन जल्द ही इस समस्या को भी हल कर दिया जाने वाला है। इस प्लांट से तैयार रबड़ को टायर बनाने और जूते चप्पल

बनाने जैसे कई कामों में इस्तेमाल किया जा सकेगा। जल्द ही इस पर काम शुरू होने वाला है।

हजारों युवाओं को मिलेगा रोजगार

ये प्लांट पानीपत रिफाइनरी परिसर में 60 किलो टन क्षमता का लगाया जाने वाला है। इस प्लांट से करीब 10 हज़ार लोगों को रोजगार मिलने की बात सामने आ रही है।

कहा जा रहा है कि जैसे ही इस प्लांट का निर्माण शुरू होगा तभी से लोगों को रोजगार मिलना भी शुरू हो जाएगा।

इस प्लांट को पूरी तरह से तैयार होने में करीब 3 साल का समय लग सकता है।

जानकारी के अनुसार इस प्लांट से प्रदूषण की समस्या भी नहीं होगी। प्रदूषण न हो इसके लिए यहाँ आधुनिक मशीनों का ही

इस्तेमाल किया जाने वाला है। इसके लिए ऑनलाइन मोनिट्रिंग सिस्टम भी लगाया जाने वाला है। कई लोगों को इससे लाभ मिलने वाला है।