जल्द ही हरियाणा की सड़कों पर भी दौड़ेंगे इलेक्ट्रिक बसें, जेनिए कौन से शहरों को मिली है सौगात

इलेक्ट्रिक बसों का सपना जल्द साकार हो सकता है। अगले माह मुख्यमंत्री लांच कर सकते है। पानीपत करनाल व हिसार को बसें मिलेगी। लोकल रूट पर सफर आसान होगा।

प्रदूषण से भी राहत मिलेगी। पानीपत जीएम ने 40 बसों की डिमांड भेजी है।इलेक्ट्रिक बसों का सपा जल्द ही साकार होने जा रहा है।

Wabtec Transit Bus Power Collection ChargingPANTO 480x480 3

सूत्रों के अनुसार अगले माह तक करनाल, हिसार व पानीपत में प्रथम चरण में 20-20 मिलने की संभावना है। इससे पहले चार्जिंग पाइंट भी बनाए जाएंगे।

ताकि बसों को आसानी से चार्ज किया जा सकें।इन बसों को दो सौ किलोमीटर के दायरे में ही चलाया जाएगा। इससे साफ है कि इन बसों को लोकल रूट पर रखा जाएगा।

इनका उपयोग सिटी बस सर्विस में भी किया जा सकेगा। जिसे विद्यार्थियों को कालेज व स्कूलों में आने-जाने में कोई परेशानी नहीं होगी।

xcelsior charge h2 e1633358015408

मांगी गई थी जानकारी

इलेक्ट्रिक बसें आने से प्रदूषण से भी काफी राहत मिलेगी। पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दाम को देखते हुए यह बस काफी किफायदी रहने वाली है।

पिछले माह ही हरियाणा राज्य परिवहन विभाग ने प्रदेशभर के सभी डिपो के जीएम से अपने-अपने जिले में इलेक्ट्रिक बसें चलाने के लिए जानकारी मांगी थी।

Duluth Proterra Bus 2

जिसके बाद सभी जिलों के जीएम ने अपनी रिपोर्ट पेश की। अब उम्मीद है कि अगले माह तक मुख्यमंत्री मनोहर लाल इन बसों को प्रदेशभर में लांच कर सकते है।

पानीपत में 40 बसों की डिमांड भेजी गई है। इसमें 12 बस एसी हो सकती है।

60 किलोमीटर की दूरी बनेगा चार्जिंग पाइंट

रोडवेज विभाग अधिकारियों के अनुसार 60 किलोमीटर की दूरी पर चार्जिंग पाइंट बनेगा। इसके लिए चार्जिंग पाइंट बनाने का काम बसें मिलने के बाद शुरू होगा।

जानिए…इलेक्ट्रिक बस के बारे में

इलेक्ट्रिक बसें केवल 12 वर्ष तक ही चल सकेंगी। इस बस को 10 लाख किलोमीटर तक ही चलाया जा सकेगा। इन बसों के निर्माण के लिए सीईसीएल कंपनी को संपर्क किया गया है।

कंपनी की ओर से ड्राइवर, चार्जिंग स्टेशन, इलेक्ट्रिक रिपेयर मैनेजमेंट और बिजली खर्च आदि शामिल होगा। इलेक्ट्रिक बसों में 55 सीट होंगी और एक बार फुल चार्ज करने पर 200

किलोमीटर तक सफर तय कर पाएंगी। एक बस 12 मीटर लंबी होगी। इन बसों के आने से ग्रामीण रूट भी कवर हो सकेंगे।

Xcelsior CHARGE NG Charger scaled e1644238730200

कम होगा प्रदूषण

इलेक्ट्रिक बसें आने से शहर में प्रदूषण स्तर में भी सुधार आएगा। फिलहाल प्रदूषण शहर में बढ़ता जा रहा है। इलेक्ट्रिक बसें आने से काफी हद तक पर्यावरण में सुधार आएगा।

बुजुर्गों के लिए वरदान साबित होगी बसें

इलेक्ट्रिक बसें चलने में काफी आराम दायक होती है। इस बसों में बैठने की सीट काफी आरामदायक है। यह बस बुजुर्गों के लिए वरदान साबित होगी।

आज के दौर में 45 साल के उपर लगभग 70 प्रतिशत लोगों को कमर दर्द की दिक्कत है। उनके लिए यह सीट काफी अच्छी रहने वाली है।