सिक्योरिटी गार्ड की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या, करौंथा-बालंद रोड पर दिया आरोपितों ने वारदात को अंजाम

झज्जर रोड पर गांव करौंथा से बालंद जाने वाले मार्ग पर मंगलवार शाम सिक्योरिटी गार्ड की लाठी डंडों से पीट कर हत्या कर दी गई। सूचना मिलने पर शिवाजी कालोनी पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी। मृतक के परिजनों ने गांव के ही कुछ लोगों पर हत्या का शक जताया है। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है। मामले के अनुसार, गांव बालंद निवासी 46 वर्षीय राकेश पुत्र धर्मपाल शहर से अपनी बाइक पर गांव जा रहा था। जब वह करीब छह बजे गांव के पास पहुंचा तो रास्ते में आए दर्जनों युवकों ने उस पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। आरोपितों ने लाठी-डंडों से उसे अधमरा कर दिया और फरार हो गए। इस दौरान राहगीरों ने गांव में रहने वाले राकेश के परिवार को सूचना दी। परिजन मौके पर पहुंचे और राकेश को घायलावस्था में पीजीआईएमएस भर्ती कराया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। सूचना मिलने पर शिवाजी कालोनी थाना प्रभारी बलवंत सिंह दल बल समेत मौके पर पहुँचे। मौके पर खून से सनी ईंट और बिट्टे मिले हैं। इसके अलावा राकेश की बाइक और टूटा हुआ हेलमेट बरामद हुआ है।

गांव में मकान की दीवार को लेकर चल रहा है विवाद

मृतक के भाई जितेंद्र ने आरोप लगाया है कि उनके मकान की साझे की दीवार को लेकर रामफल और उसके दो बेटों साहिल व कपिल से तीन साल से विवाद चल रहा था। जिसका पंचायत में समझौता हो गया था, लेकिन आरोपित इसके बाद भी रंजिश रखते थे। आशंका व्यक्त की गई है कि इसी रंजिश के चलते राकेश पर हमला कर उसकी हत्या की गई है। पुलिस हर पहलू से जांच कर रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए पीजीआई भेज दिया गया है।

Screenshot 2021 05 12 123008

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद होगी अगली कार्रवाई

करौथा बालंद रोड पर व्यक्ति की हत्या की सूचना मिली। मौके का निरीक्षण कर जांच पड़ताल की जा रही है। परिवार ने कई लोगों के खिलाफ शिकायत दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

-बलवंत सिंह, एसएचओ शिवाजी कॉलोनी

राकेश की मौत से परिवार में मातम

राकेश के माता-पिता की मौत हो चुकी है। उसका छोटा भाई जितेंद्र बहादुरगढ़ में रहता है। राकेश के पास दो बेटी और एक छोटा बेटा है। राकेश की मौत होने से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। परिवार ने पुलिस से कड़ी कार्रवाई की मांग की है।