रोहतक की सड़कें हुई मानसून से चलनी, मरमत मे आ रही अड़चनों का काऱण बनी फंड की कमी

चुनावी मौसम यानी साल 2019 में विस चुनाव से पहले करीब 4 करोड़ की लागत से नगर निगम एरिया में बनाई सड़कें बिना मरम्मत के जर्जर हो गई हैं।

मॉनसून की बारिश ने शहर की सड़कों को और छलनी कर दिया है। हाल ऐसा है कि कई एरिया में सड़कों पर करीब 1 से डेढ़ फीट तक के गड्‌ढे बन गए हैं।

इन पर सीधा चलना अब मुमकिन नहीं रहा है।राह में इतने गड्‌ढे हैं कि वाहन टेढ़े-मेढ़े ही चलाने पड़ते हैं। इसलिए ये सड़कें कमर में दर्द अलग से दे रही हैं।

ऐसा नहीं है कि सड़कों के लिए डिमांड नहीं गई, मेयर मनमोहन गोयल का कहना है कि सीएम मनोहर लाल से 5 करोड़ रुपए की मांग की गई थी,

लेकिन अभी तक पैसे नहीं मिले हैं। अगर मिल जाते तो शायद बरसात से पहले सड़कों पर पैचवर्क हो गया होता। फिलहाल जब तक फंड नहीं आता तब तक आप गड्‌ढे झेलते रहिए और संभलकर चलिए।

साढ़े 3 साल में सड़कों की मरम्मत को मिले मात्र 1 करोड़ रु.
नगर निगम की दूसरी बार बनी सरकार के साढ़े 3 साल के कार्यकाल में अब तक सड़कों की मरम्मत के नाम पर मात्र 1 करोड़ रुपए ही चंडीगढ़ मुख्यालय से मिले हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल से शहर की सड़काें की मरम्मत के लिए 5 करोड़ रुपए की मांग की गई थी। लेकिन अभी तक ये पैसे मिले नहीं हैं।

सेक्टर-1, 2, 3 और 14 में 70 सड़कें टूटी
नगर निगम के वार्ड-11 में आने वाले सेक्टर-1, 2, 3 और सेक्टर-14 में कुल करीब 125 सड़कें हैं। इनमें से मरम्मत के अभाव में अब तक मुख्य मार्गों के समेत लगभग 70 सड़कें खस्ताहाल हो गई हैं।

इन पर से गुजरना मुश्किल हो गया है। इसमें भी सर्वाधिक टूटी सड़क सेक्टर-2 की हैं। क्योंकि शीला बाईपास चौक पर फोन लेन ओवरब्रिज के निर्माण और

सोनीपत रोड पर बोहर नाके पर बन रहे स्टील ब्रिज की वजह से बड़े छोटे वाहनाें का रूट इस सेक्टर की सड़कों से होकर गुजारा जा रहा था।

शहर के इन इलाकों में सड़कें खस्ताहाल

1.डीएलएफ कॉलोनी की मुख्य सड़क
2.आर्य नगर की सड़क व गलियां
3.बजरंग भवन रेलवे फाटक
4.सोनीपत रोड रेलवे फाटक
5.गांधी कैंप की सड़क और गलियां टूटी
6.खेड़ीसाध गांव के पास आईएमटी चौक
7.भिवानी रोड पर जनसेवा संस्थान के सामने 8.बोहर गांव होकर सोनीपत रोड
9.झज्जर चुंगी से सुनारिया चौक होकर भिवानी चुंगी तक
10.सोनीपत रोड पर बोहर नाके से वीटा मिल्क चौक तक जाने वाली सड़क
11.मॉडल टाउन में चारखंभा चौक से पावर हाउस चौक तक
12.मॉडल डाउन से शीला बाईपास चौक रोड
13.विकास नगर सोनीपत रोड
14.किलारोड बाजार के बाहर
15.गांधी कैंप बाजार की मुख्य सड़क

16.लेबर चौक से डीएलएफ कॉलाेनी होकर आर्य नगर चौक जाने वाली सड़क
17.माता दरवाजा चौक से शौराकोठी जाने वाली सड़क
जानिए, कहां किस सड़क पर कितने किए गए थे खर्च

81 लाख रुपए से बड़े बाजार की मुख्य सड़क बनी थी।


1.20 करोड़ से भिवानी स्टैंड, कसाईयों वाला चौक, पुरानी सब्जी मंडी रोड, बाबरा चौक, सीआईए तक सड़क बनाने पर खर्च।


92 लाख रुपए के खर्च से अशोका चौक से सर्कुलर रोड रेलवे पुल तक सड़क बनी।


1.33 करोड़ की लागत से माता दरवाजा चौक से शौराकोठी सड़क बनी।