अंतरराष्ट्रीय खेल के नक्शे में आएगा अब करनाल का भी नाम, हाकी स्टेडियम की मिली सौगात

सीएम सिटी करनाल को जल्द ही अंतरराष्ट्रीय हाकी स्टेडियम की सौगात मिलने जा रही है। सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य ने तेजी पकड़ ली है।

निर्माण कार्य 2023 तक पूरा हो जाएगा। प्रशासन ले रहा है गहरी दिलचस्पी।करनाल में अंतरराष्ट्रीय हाकी स्टेडियम की सौगात का इंतजार

शहरवासियोंके साथ साथ खिलाड़ी भी बेसब्री से कर रहे हैं। हाकी स्टेडियम का निर्माण कार्य किस स्थिति तक पहुंच गया है, इसे देखने के लिए खिलाड़ी व स्थानीय लोग भी उसकाे देखने जा रहे हैं।

क्योंकि करनाल में यह पहला अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम होगा। कार्य की गति देखकर खिलाड़ी संतोष जाहिर करते हैं। पूरी उम्मीद है कि वर्ष 2023 की शुरूआत के बाद यह स्टेडियम खिलाड़ियों को समर्पित कर दिया जाए।

स्टेडियम की खुदाई का कार्य अंतिम चरण की ओर

14 करोड़ की लागत से बन रहा स्टेडियम यह स्टेडियम करनाल के सबसे अहम प्रोजेक्ट में शामिल है। इस समय प्रोजेक्ट के ले-आउट का काम पूरा होने के बाद अब यहां

खुदाई का काम किया जा रहा है। जो लगभग अंतिम चरण की ओर पहुंच गया है। इसमें फाउंडेशन भरकर स्टैप्स और गैलरी बनाई जाएगी।

उनके नीचे कैफे, खिलाड़ियों के लिए चेंजिंग रूम और वीआईपी लाज बनेंगे। एस्ट्रोट्रफ से अंतरराष्ट्रीय स्तर का हाकी ग्राउंड विकसित किया जाएगा।

यह अगले वर्ष के प्रारंभ तक पूरा हो जाएगा। उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि इस स्टेडियम के लिए 27 एकड़ जगह उपलब्ध है और इसको तैयार करने में करीब 14 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

इंटरनेशनल हाकी स्टेडियम की सौगात शहर को देना का श्रेय सीएम मनोहर लाल काे जाता है। यह स्टेडियम उनके ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार है।

लिहाजा इस बात को जानते हुए प्रशासन भी स्टेडियम के निर्माण को लेकर कोई चूक नहीं बरत रहा है। स्टेडियम के निर्माण को लेकर कड़ी नजर रखी जा रही है।

अधिकारी भी समय समय पर इस कार्य का निरीक्षण करते हैं। जबकि उपायुक्त अनीश यादव भी कई बार स्टेडियम स्थल पर जाकर निर्माण कार्य का जायजा ले चुके हैं।

अंतरराष्ट्रीय खेल नक्शे में आएगा करनाल का नाम

यह स्टेडियम बन जाने से हाकी जगत के नक्शे पर करनाल का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सामने आएगा। क्योंकि यह हाकी से संबंधित सभी बड़े टूर्नामेंट यहां खेले जाएंगे

तो साथ ही घरेलू टूर्नामेंट भी इस मैदान में साल भरआयोजित होंगे। अलबत्ता इस मैदान के निर्माण से करनाल के साथ साथ पड़ोसी जिलों सहित

हरियाणा के हाकी खिलाड़ी उत्साहित हैं। इस स्टेडियम के बनने से हाकी के प्रति खिलाड़ियों का रुझान भी बढ़ेगा।

आसपास के क्षेत्र का होगा विकास

अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम का निर्माण होने से कैलाश रोड के आसपास बसी कालोनियों में भी विकास की गाड़ी रफ्तार पकड़ेगी।

क्योंकि यहां पर देश व विदेश से नामचीन खिलाड़ियों का आगमन होगा। इसके चलते इस क्षेत्र की

सड़कें दुरुस्त रहेंगी तो साथ ही हाइवे से कनेक्टिविटी भी बेहतर बना दी जाएगी।

इस क्षेत्र का सौंदर्यकरण करवाना भी प्रशासनिक की प्राथमिकता में शामिल है।