हरियाणा सरकार देगी लाखों लोगो को आशियाना, केएमपी एक्सप्रेस वे के किनारे बसाए जाएंगे शहर, जाने पूरी योजना

चंडीगढ़ : बढ़ती जनसंख्या के साथ लोगों के लिए अपना आशियाना बनाना एक चुनौती बन गया है। इसको लेकर सरकारे भी चिंतित है,

लेकिन हरियाणा सरकार ने चिंता छोड़ते हुए 10 लाख से भी अधिक लोगों को आशियाना उपलब्ध करवाने की शानदार योजना तैयार की है।

kmp

सरकार लोगों को आशियाना देने के लिए पांच नए शहर बसाएगी। इन शहरों में लोगों को आशियाने के साथ सभी मूलभूत सुविधाएं दी जाएगी।

यह बात खुद प्रदेश के मुखिया मनोहर लाख खट्टर ने गुरूग्राम में दो दिवसीय अर्बन डेवलपमेंट कान्क्लेव में कही।

केएमपी एक्सप्रेस वे के किनारे बसाए जाएंगे शहर योजना पूरी तरह से सफल रही तो सरकार केएमपी (कुं डली मानेसर पलवल ) के किनारे इन नए शहरों को बसाएगी। एक्सप्रेस वे के किनारे कई हैक्टयेर जमीन खाली पड़ी हुई है।

सरकार लोगों के लिए इस जमीन का प्रयोग करते हुए नए शहर बसाना चाहती है। इन नए शहरों के बसने से स्लम से भी मुक्ति मिलेगी। सरकार ने 2.5 लाख हैक्टयेर में इस नए शहर को बसाने की योजना तैयार की है।

प्रत्येक शहर होगा 50 हजार हेक्टेयर में डेवलप सरकार की योजना के अनुसार प्रत्येक शहर 50 हजार हेक्टेयर में डेवलप किया जाएगा। शहर को डेवलप करने से पहले सरकार उन जगहों पर पानी सीवर और सडक़ जैसी मूलभूत

22 01 2021

सुविधाएं विकसित करेगी। ताकि यहां पर रहने वाले लोगों को किसी भी तरह की परेशानी न हो। इन शहरों में सरकार उद्योगों को भी लगाएगी। ताकि लोगों को रोजगार भी मिल सके।

कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेस कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेसको दिल्ली एनसीआर के सबसे बड़े रिंग रोड में शामिल किया जाता है। 135.6 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेस वे हरियाणा यूपी और दिल्ली के कई

19 11 2018 kmproaddelhincr 18653086 151513985

शहरों को आपस में जोड़ता है। इसके अलावा भी कई राज्यों के खाद्य पदार्थ व अन्य सामग्री इस एक्सप्रेसवे के जरिए अलग-अलग जिलों में पहुंचाई जाती है।

इस एक्सप्रेस वे का निर्माण साल 2013 में एचएसआईडीसी की ओर से शुरू किया गया था। साल 2018 नवंबर में यह लोगों के लिए बनकर तैयार हो गया है।