हरियाणा के जींद में इन 12 जगहों पर बनेंगे यात्रियों के लिए बस क्यू सेल्टर। देखे लिस्ट

धूप व बरसात में खड़े होकर बस आटो व अन्य वाहनों का इंतजार करने वाले हजारों यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। शहर में प्रशासन द्वारा बस क्यू शेल्टर बनाने की तैयारी शुरू हो गई है।

धूप व बरसात में खड़े होकर बस, आटो व अन्य वाहनों का इंतजार करने वाले हजारों यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। शहर में प्रशासन द्वारा बस क्यू शेल्टर बनाने की तैयारी शुरू हो गई है।

डी-प्लान के तहत आई राशि से बस क्यू शेल्टर बनाए जाएंगे। इसके लिए फिलहाल तक 12 स्थान चिन्हित किए गए हैं। भविष्य में और स्थानों को भी तय किया जा सकता है।

पांच महीने पहले नए बस स्टैंड से बसों का परिचालन शुरू हो गया था। इसके के चलते शहर में कई ऐसे नए स्थान बन गए हैं, जहां यात्री बस का इंतजार करते हैं।

हालांकि फिलहाल बस पूरी तरह से गोहाना रोड से निकल रही हैं, लेकिन पहले बस स्टैंड से वापसी का रूट सफीदों रोड से रहा है।

भविष्य में भी इसी रूट से बस चलाई जा सकती हैं। यहां सबसे अधिक परेशानी विद्यार्थियों और विशेषकर छात्राओं को उठानी पड़ रही है।

कई बार बस में अधिक यात्री होने के कारण छात्राएं चढ़ नहीं पाती और उन्हें दो-तीन बस निकलने तक इंतजार करना पड़ता है।

21 करोड़ रुपये आए डी-प्लान से

इस बार डी-प्लान के तहत जिला को 21 करोड़ पांच लाख रुपये की राशि मिली है। सबसे अच्छी बात यह है कि राशि वित्त वर्ष शुरू होने के साथ ही मिल गई है,

जिससे इस राशि को चालू वित्त वर्ष में आसानी से खर्च किया जा सकेगा। इस राशि को खर्च करने के लिए जिला स्तरीय कमेटी की बैठक हो चुकी है

और सांसद-विधायकों द्वारा अपने कामों की सूची दी गई है। जिला प्रशासन द्वारा अपने स्तर पर बस क्यू शेल्टर का खर्च भी जोड़ा गया है।

एक बस क्यू शेल्टर पर करीब ढाई लाख रुपये का खर्च

फिल्हाल तक शहर में प्रशासन द्वारा कोई भी बस क्यू शेल्टर नहीं लगाया गया है। जिला परिषद द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में बस क्यू शेल्टर बनाए हैं।

एक बस क्यू शेल्टर पर करीब एक लाख 80 हजार रुपये खर्च हुए हैं। शहर में लगने वाले बस क्यू शेल्टर इनसे कुछ अलग हट कर व आकर्षक होंगे।

ऐसे में एक बस क्यू शेल्टर पर करीब ढ़ाई करोड़ रुपये की राशि खर्च होने की उम्मीद है। हालांकि सरकार द्वारा मंजूरी के बाद ही इसका प्रस्ताव तैयार किया जाएगा।

यहां-यहां है जरूरत

इससे पहले पिछले महीने हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में भी बस क्यू शेल्टर बनाने पर चर्चा हुई थी। इसके तहत स्वयं सेवी संस्था टीम जींद सुधार द्वारा 12 ऐसे बिदू सुझाए गए हैं, जहां बस क्यू शेल्टर बनाए जा सकते हैं।

इसमें गोहाना रोड पर लघुसचिवालय के बाहर सड़क के दोनों ओर, राजकीय कालेज के बाहर दोनों ओर, एसडी स्कूल के पास, पटियाला चौक पर तिकोना पार्क के पास,

नए बस स्टैंड के सामने, पुराने बस स्टैंड के सामने सड़क के दोनों ओर। जिला जेल, एसपी निवास व परशुराम चौक पर बस क्यू शेल्टर बनाए जा सकते हैं।

डी प्लान से बस क्यू शेल्टर बनाने की योजना है। इसके लिए प्रस्ताव सरकार को भेजा गया है। फिलहाल तक कुछ ऐसे स्थानों की जानकारी आई है। इसमें ओर भी स्थान जोड़े जा सकते हैं। सरकार से स्वीकृति आने के बाद इसका बजट तैयार किया जाएगा।