गुरग्राम मे करोड़ो की लागत से बनने जा रहे है 3 राष्ट्रीय राजमार्ग,दिल्ली और गुरग्राम की जनता को मिलेगा जाम से निजात देखे रूट

दिल्ली एनसीआर को बड़ी राहत मिलने वाली है। गुरुग्राम में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मंगलवार को तीन परियोजनाओं की सौगात दी है।

ये ऐसी परियोजनाएं हैं, जिनसे दिल्ली एनसीआर को ट्रैफिक जाम (Delhi NCR Traffic Jam) से बड़ी राहत मिलेगी।

नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ हरियाणा में तीन राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं (Three National Highway Projects) का लोकार्पण किया।

गुरुग्राम के सेक्टर-38 स्थित ताऊ देवी लाल स्टेडियम में परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। इसके बाद उन्होंने जनता को संबोधित किया।

गडकरी ने गुरुग्राम से 3450 करोड़ रुपये की लागत से बनाए गए तीन राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का लोकार्पण किया, जिनमें गुरुग्राम से सोहना तक एलिवेटेड हाईवे,

एनएच -11 पर रेवाड़ी से अटेली मंडी चार मार्गीय सड़क और खेरड़ी मोड़ से भिवानी बाईपास होते हुए हालुवास गांव तक चार लेन परियोजना शामिल थी।

50,000 करोड़ की लागत से राष्ट्रीय राजमार्गों का हो रहा निर्माण

इस मौके पर नितिन गडकरी ने कहा कि हरियाणा में लगभग 50 हजार करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया जा रहा है।

उन्होंने इन परियोजनाओं का उल्लेख भी किया और बताया कि एक हजार 15 किलोमीटर ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे और ग्रीन फील्ड कोरिडोर का निर्माण हो रहा है।

नितिन गडकरी ने बताया अपना सपना

उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि नरीमन प्वाइंट से गुरुग्राम तक 12.5 घंटे में पहुंचना चाहिए। नितिन गडकरी ने बताया कि लगभग एक लाख करोड़ रुपये की लागत से दिल्ली-मुंबई

एक्सप्रेस वे (Delhi Mumbai Expressway) का निर्माण तीव्र गति से चल रहा है और यह एक्सप्रेस-वे गुरुग्राम जिला में सोहना से शुरू होता है।

उन्होंने कहा कि इस सोहना रोड को ऐसा बनाया जाएगा कि भविष्य में भी इस पर यातायात की समस्या नही आएगी।

पांच साल में वाहनों में पेट्रोल का उपयोग होगा बंद

नितिन गडकरी ने कहा कि अगले पांच साल में पेट्रोल के उपयोग को वाहनों में समाप्त कर दिया जाए। इसके लिए वे ई-वाहनों (E-Electric) को बढ़ावा दे रहे हैं। केंद्र सरकार 50 हजार ई-बस देने की योजना बना रही है।

हरियाणा भी इसी तर्ज पर ई-बस शुरू करे (E-Bus)

नितिन गडकरी ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से कहा कि आप हरियाणा के किसानों को अन्नदाता नहीं बल्कि उर्जादाता बनाएं। किसान के ट्यूबवैल से पानी निकलेगा

और उससे ग्रीन हाइड्रोजन (Greem Hydrogen) बनेगी, जोकि वाहनों में ईंधन के तौर पर प्रयोग होती है।

उन्होंने ये भी कहा कि अपने किसानों से कहें कि वे पराली ना जलाएं क्योंकि पराली से ईंधन बनता है।

पराली की दो हजार रुपये प्रति टन की कीमत मिलेगी और उससे बिटूमिन बनेगा, जिसे खरीदने के लिए एनएचएआई तैयार है।

ये Expressway और National Highway बदलेंगे दिल्ली एनसीआर की सूरत, 3450 करोड़ की परियोजनाएं जाम से दिलाएंगी मुक्ति

दिल्ली होगी ट्रैफिक जाम से मुक्त

नितिन गडकरी ने कहा कि दिल्ली को ट्रैफिक जाम से मुक्त करने के लिए 60 हजार करोड़ रुपये के काम करवाए जा रहे हैं और उसका सबसे ज्यादा फायदा हरियाणा को मिलेगा।

उन्होंने दिल्ली-कटरा एक्सप्रेस वे (Delhi Katra Expressway) का भी उल्लेख किया। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने गुरुग्राम में आयुध डिपो के प्रतिबंधित क्षेत्र को 900 मीटर से घटाकर 300 मीटर करवाने का भी आग्रह किया।