रोहतक में छठी से आठवीं तक स्कूल खुले, बच्चों के चेहरे खिले, कहा अब होगी सही पढ़ाई

प्रदेश भर में आज छठी से आठवीं कक्षा के बच्चों के लिए भी स्कूल खोल दिए गए हैं । वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय गांव पहरावर, रोहतक के स्कूल में आज विद्यार्थियों की काफी संख्या देखने को मिली है। लगभग सवा साल बाद स्कूल में पहुंचे बच्चे काफी खुश नजर आ रहे हैं।  

1627023839स्कूल पहुंचने पर अध्यापकों ने बच्चों का तापमान मापा और साथ ही सनराइज कर उन्हें मास्क का प्रयोग करने और पुस्तकों से लेकर खाना तक एक दूसरे को शेयर ना करने की हिदायत दी। अध्यापक से क्लास में बैठकर पढ़ाई करते हुए बच्चे काफी संतुष्ट नजर आए वहीं बच्चों ने भगवान से प्रार्थना की है कि अब इनके स्कूल कभी भी बंद नहीं होने चाहिए । ज्यादा संख्या में  बच्चों के स्कूल में पहुंचने पर अध्यापक भी खुश नजर आ रहे हैं। विद्यालय में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या पहले से ज्यादा बढ़ रही है।

1627023829काफी दिनों बाद स्कूल में पहुंचे बच्चों ने कहा कि रेगुलर स्कूल खुलने से उन्हें काफी खुशी हो रही है।  क्योंकि घर पर ऑनलाइन पढ़ाई ठीक से नहीं हो पा रही थी।  कभी नेट की दिक्कत आ रही थी तो किसी के पास स्मार्टफोन नहीं था।  अब वह क्लास में बैठकर अध्यापक से सीधी पढ़ाई कर सकते हैं।  जो उन्हें काफी अच्छा लग रहा है। स्कूल में पहुंची छात्रा श्वेता ने बताया कि वह अध्यापकों द्वारा बताए करोना बचाव नियमों का पूरी तरीके से पालन कर रहे हैं स्कूल में मास्क लगाकर आए हैं और अध्यापकों ने उन्हें आते ही सनराइज किया है और उनका तापमान भी मापा है। वह भगवान से प्रार्थना करते हैं कि उनके स्कूल कभी भी बन्द ना हो जिससे उनकी पढ़ाई सही तरीके से चलती रहे।

1627023826वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पहरावर रोहतक की प्रिंसिपल प्रवीन दहिया ने बताया कि स्कूल खुलने से अब रौनक लौट आई है सभी अध्यापक खुश हैं और बच्चों की पढ़ाई अब ठीक तरीके से हो पाएगी। बच्चों को कोरोना से बचाव के नियमों का पूरी तरीके से पालन करवाया गया है और उन्हें खुशी है कि काफी अंतराल के बाद स्कूल खुलने पर सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ गई है।  उनकी कोशिश है कि ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ाई कर पाए।

1627023955खंड शिक्षा अधिकारी आशा दहिया ने कहा कि छठी से आठवीं के स्कूल खोलने से पहले तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं। स्कूल में आने वाले विद्यार्थियों, शिक्षकों व स्टाफ को कोविड-19 से बचाव के नियमों का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। इसके लिए संबंधित स्कूल अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं।