ठंड से जूझ रहा हरियाणा,गुरग्राम कई शहरों में बुधवार को खिली धूप,मौसम का ऐसा ही रहेगा मिजाज

Weather in Haryana: हरियाणा के कई शहरों में बुधवार को धूप खिली रही लेकिन रात को तापमान जमाव बिंदु पर पहुंच गया। मौसम विभाग के अनुसार अभी कुछ दिनों तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहने वाला है।

गुरुग्राम: शहर में कड़ाके की ठंड के बीच रात का तापमान अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है। बुधवार को न्यूनतम तापमान जीरो से भी नीचे माइनस 0.2 डिग्री

सेल्सियस दर्ज किया गया। लगातार तीसरे दिन न्यूनतम तापमान एक डिग्री से नीचे रहा है। यह सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस कम है।

रात को तापमान माइनस में पहुंचने से बाहर खड़ी गाड़ियों पर बर्फ की परत भी देखने को मिल रही है। वहीं धूप खिलने के बाद अधिकतम तापमान अभी सामान्य बना हुआ है।

जो बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान 18.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्व विद्यालय के मौसम विज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ. मदन खीचड़

ने बताया कि गुरुग्राम और आसपास के क्षेत्र में उत्तर पश्चिमी शीत हवा चल रही है, इसी वजह से ज्यादातर क्षेत्रों में रात्रि तापमान में गिरावट दर्ज हुई।

उन्होंने बताया कि 19 जनवरी से वेस्टर्न डिस्टरबेंस के आंशिक प्रभाव से हवा उत्तर पश्चिम से पुरवाई होने तथा आंशिक बादल संभावित है। जिससे रात के तापमान में फिर से बढ़ोतरी होने की संभावना है।

पड़ रहा है पाला
दक्षिण हरियाणा में पाला भी पड़ रहा है। जो वाहनों, पेड़ पौधों पर फसलों पर बर्फ के रूप में जम रहा है। दरअसल, सर्द मौसम में जब तापमान काफी नीचे चला जाता है,

तब वायु में उपस्थित जलवाष्प द्रव रूप में परिवर्तित न होकर सीधे ही सूक्ष्म हिमकणों में परिवर्तित हो जाते हैं। इसे ही पाला पड़ना या बर्फ जमना कहा जाता है।

दोपहर बाद हवा के न चलने तथा रात में आसमान साफ रहने पर पाला पड़ने की संभावना ज्यादा रहती है।

हिसार से 2 डिग्री कम
गुरुग्राम ने इस सीजन प्रदेश के सबसे ठंडे इलाके हिसार, नारनौल और महेंद्रगढ़ को भी पीछे छोड़ दिया है। बुधवार को गुरुग्राम के बाद दूसरे नंबर पर महेंद्रगढ़ का 0.1, नारनौल का

0.9 और हिसार का 2.0 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। हालांकि मंगलवार को हिसार का तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस था।

कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिलेगी
हरियाणा मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि प्रदेश में मौसम शुष्क बना हुआ है। एक ताजा वेस्टर्न डिस्टरबेंस समुद्र तल से 5.8 किमी एक साइक्लोनिक

सर्कुलेशन के रूप में देखा गया है। इसके आंशिक रूप से सक्रिय होने से रात के तापमान में बढ़ोतरी होगी। जिससे कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिलेगी।

अगले 48 घंटे के दौरान न्यूनतम तापमान में तीन से 5 डिग्री तक की वृद्धि होने की संभावना है। उसके बाद गुरुग्राम और आसपास के क्षेत्र में कोई बड़ा बदलाव नहीं होगा।