हरियाणा आया बिमारियों के शिकंजे मे घरों में सर्वे कर मरीजों की होगी स्क्रीनिंग पाए गए कोविड-टीबी के लक्षण

हरियाणा के कोविड-टीबी के लक्षण एक जैसे होने को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने एक विशेष ड्राइव शुरू की है। इस ड्राइव में घर-घर सर्वे किया जाएगा और टीबी ग्रसित मरीजों की

स्क्रीनिंग की जाएगी। चूंकि NCR एरिया का गुरुग्राम अभी तक सबसे सेंसिटिव है इसलिए इसकी शुरुआत वहीं से की गई है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने 500 टीमों का गठन किया है।हरियाणा स्वास्थ्य विभाग ने विशेष ड्राइव के तहत पहले

दिन 504 लोगों की स्क्रीनिंग की। इसके लिए जिले के सबसे सेंसिटिव 150 स्थानों को भी चिह्नित किया गया है। रोज 60 घरों की स्क्रीनिंग की जाएगी। हर टीम में दो मेंबर रख गए हैं, एक आशा वर्कर और एक बहुउद्देश्यीय कार्यकर्ता है।

दोनों तरह के मरीजों की पहचान होना जरूरी
टीबी ग्रसित मरीजों की स्क्रीनिंग की वजह स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताई कि इन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम होती है।

साथ ही कोविड जैसे ही लक्षण इनके भी होते हैं। ऐसे में इनकी पहचान होनी बेहद जरूरी है, जिससे इनका उचित इलाज किया जा सके।

गुरुग्राम में रोज मिल रहे पॉजिटिव केस
गुरुग्राम में हर रोज कोविड के नए केस मिल रहे हैं। 24 घंटे में 2 और नए मरीज सामने आए हैं। सबसे चिंताजनक बात यह है कि इस जिले में सबसे

अधिक एक्टिव 16 रिकॉर्ड किए गए हैं। इसके अलावा फरीदाबाद, जींद और कैथल में भी एक एक एक्टिव केस है।