करनाल के शुगर मिलो के किसानो ने उठाई हरियाणा सरकार के खिलाफ आवाज

Haryana News: लंबे समय से हरियाणा के किसान गन्ने के दामों में बढ़ोतरी की मांग कर रहे है. किसान संगठनों द्वारा लगातार सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है.

किसान संगठनों द्वारा कई बार सरकार को आंदोलन की चेतावनी भी दी जा चुकी है. इसके बावजूद हरियाणा सरकार ने गन्ने के दामों में किसानों की मांग के अनुरूप बढ़ोतरी नहीं

की है. जिसके विरोध में आज करनाल (Karnal) की अनाज मंडी में किसान महापंचायत की जा रही है. इस महापंचायत में 14 शुगर मिलों (Sugar Mills) के किसान शामिल होने वाले है.

किसान पहले भी कई बार कर चुके है प्रदर्शन
किसान इससे पहले मुख्यमंत्री आवास (CM Residence) का घेराव तक कर चुके है और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का पुतला भी फूंक चुके है. इसके अलावा 9 जनवरी तक

किसान शुगर मिलों के रास्तों पर कई घंटे जाम लगा चुके है. विधायकों के घरों के सामने धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंप चुके है. किसान गन्ने के रेट (Rate) बढ़वाने की

मांग पर अड़े हुए हैं. किसानों का कहना है कि सरकार उनकी मांगों पर खरा नहीं उतर रही है. इसलिए वो और बड़ा आंदोलन करने को मजबूर है.

आज होने वाली किसान महापंचायत में किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी भी शामिल होने वाले है. ऐसे में माना लगाया जा रहा है कि गन्ने के भाव ना बढ़ने पर किसान कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं.

सरकार ने जारी की थी 362 रुपए प्रति क्विंटल की अधिसूचना
वहीं आपको बता दें कि किसानों का कहना है कि सरकार ने पुराने दामों पर 362 रुपए प्रति क्विंटल के भाव में गन्ना खरीदने की अधिसूचना जारी की थी.

और किसानों की मांग है कि गन्ने का रेट 450 रुपए प्रति क्विंटल किया जाए. किसानों का कहना है कि जब तक गन्ने का रेट नहीं बढ़ाया जाएगा तब तक ऐसे ही आंदोलन करते रहेंगे